बुलंदशहर

कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी ने खाद्य सुरक्षा सलाहकार समिति की बैठक सम्पन्न

कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी ने खाद्य सुरक्षा सलाहकार समिति की बैठक सम्पन्न

जेप गुप्ता
बुलन्दशहर
आज जिलाधिकारी श्री चन्द्र प्रकाश सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय खाद्य सुरक्षा सलाहकार समिति की बैठक आहूत की गई। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा खाद्य सुरक्षा अधिकारी वार उनके द्वारा खाद्य पदार्थो के सैम्पलिंग की कार्रवाई एवं नमूने फैल होने पर संबंधित के विरूद्ध की गई कार्रवाई की विस्तृत रूप से समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान खाद्य सुरक्षा अधिकारियों द्वारा नमूने लिए जाने की कार्रवाई एवं दर्ज अभियोगों में पैरवी संतोषजनक नहीं पाये जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए 15 दिवस में कार्य में सुधार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी खाद्य सुरक्षा अधिकारी अपनी कार्यशैली में सुधार लाते हुए अपने पदीय दायित्वों का निवर्हन करने के साथ ही उन्हें नागरिकों के स्वास्थ्य के प्रति जो जिम्मेदारी सौंपी गई हैं उसका ईमानदारी एवं निष्ठापूर्वक निवर्हन करें। किसी भी दशा में जनपद में अपमिश्रित पदार्थो की बिक्री न हो इसके लिए प्रभावी रूप से कार्रवाई सुनिश्चित की जाये। मिलावटी खाद्य पदार्थो की बिक्री करने वालों के विरूद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई की जाये, इसके साथ ही इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये कि किसी भी व्यापारी/दुकानदार का नमूना लिये जाने के नाम पर शोषण नहीं होना चाहिए। यदि सैम्पलिंग के नाम पर किसी व्यक्ति का शोषण होता पाया जाता है तो संबंधित के विरूद्ध कठोर कार्रवाई अमल में लायी जायेगी। खाद्य सुरक्षा अधिकारियों से भेजे गए सैम्पलों में नेगेटिव रिपोर्ट आने पर की गई कार्रवाई की जानकारी हासिल की गई। इसके साथ ही भेजे गए सैम्पल के पॉजिटिव आने पर रिसैम्पलिंग के लिए की गई कार्रवाई के बारे में भी जानकारी हासिल करते हुए आवश्यक निर्देश दिये गये। निर्देशित किया गया कि अपमिश्रित घोषित नमूनांे से संबंधित वादो को मा0 न्यायालय में मानक समय सीमा में दायर कराये एवं प्रभावी रूप से पैरवी कर साक्ष्य प्रस्तुत करते हुए वादों का निस्तारण कराया जाये। निर्देशित किया गया कि गन्ने के जूस आदि खाद्य सामग्री के सैम्पल भी लिये जायें तथा लोगांे के स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए साफ-सफाई का ध्यान रखा जाये। इसके साथ ही नुमाईश मैदान में लगने वाले सोमवार बाजार में भी प्रवर्तन की कार्रवाई करते हुए खाद्य पदार्थो के नमूने लिये जाये। निर्देशित किया गया कि औषधि विक्रेताओं, सभी राशन विक्रेताओं, शराब एवं मण्डी समिति/बाजारों में बिक्रय होने वाले खाद्य पदार्थो यथा- फल व सब्जी, चांट विक्रेता सहित सभी प्रकार के जूस विक्रेताओं को खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम-2006 के अन्तर्गत लाईसेंस/पंजीकरण से आच्छादित किया जाये। डीओ को निर्देशित किया गया कि खाद्य सुरक्षा अधिकारियों द्वारा किये जा रहे कार्यो का प्रभावी रूप से पर्यवेक्षण करते हुए माह में समीक्षा बैठक का आयोजन करायें।
बैठक में औषधि निरीक्षक दीपा लाल के द्वारा विगत 5-6 माह में विभागीय कार्यो में हुई प्रगति के संबंध मंे अवगत न कराने और न ही अपने विभाग की मासिक/त्रैमासिक समीक्षा कराये जाने पर जिलाधिकारी द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए अग्रिम आदेशों तक उनका वेतन रोकने के निर्देश दिये। इसके साथ ही जिलाधिकारी द्वारा अभी तक की गई प्रवर्तन कार्यो के बारे में भी जानकारी हासिल की गई। साथ ही सैम्पलिंग में नेगेटिव आने पर की गई कार्रवाई के बारे में जानकारी हासिल करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये।
बैठक में उपस्थित व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों द्वारा नगर पालिका क्षेत्र में बनी पानी की टंकियों की साफ-सफाई कराने का अनुरोध करने पर जिलाधिकारी द्वारा ईओ नगर पालिका को निर्देशित किया गया कि पानी की टंकी की सफाई कराते हुए नागरिकों को शुद्ध पेयजल आपूर्ति कराने की व्यवस्था की जाये। बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन डॉ0 प्रशान्त कुमार, जिला अभिहित अधिकारी खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन राजकुमार गुप्ता, उपायुक्त उद्योग सहित संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0089458

Advertisements