देश-दुनिया

हिंदू महासभा राष्ट्रीय सचिव गाजियाबाद DM कार्यालय से उत्तराखंड CM कार्यालय तक करेगी पैदल मार्च

हिंदू महासभा राष्ट्रीय सचिव गाजियाबाद DM कार्यालय से उत्तराखंड CM कार्यालय तक करेगी पैदल मार्च

अलीगढ़ मैं अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडे उत्तराखंड में हुई धर्म संसद में दिए गए बयान के बाद गिरफ्तार किए गए यती नरसिंहानंद सरस्वती और जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी की गिरफ्तार कर जेल भेजे गए दोनों हिंदू धर्म योद्धा की जेल से रिहाई के लिए गाजियाबाद जिलाधिकारी कार्यालय से उत्तराखंड मुख्यमंत्री कार्यालय तक पैदल मार्च करेंगी। उन्होंने उत्तराखंड सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उत्तराखंड सरकार जिहादियों के दबाव में काम कर रही है। कहा जिन धाराओं में दोनों संतो को जेल में डाला गया वे धाराएं मामूली धारा थी जिनमें थाने से भी बेल मिल सकती थी। हिजाब को लेकर उन्होंने कहा कि रूस सहित और देशों में हिजाब प्रतिबंध है लेकिन हमारे देश में हिजाब प्रतिबंधित क्या उसको सही भी नहीं कह सकते हैं।
जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में महामंडलेश्वर अन्नपूर्णा भारती ने कहा गाजियाबाद जिलाधिकारी कार्यालय से मुख्यमंत्री कार्यालय देहरादून तक पदयात्रा करेंगे। इस दौरान निरंजनी अखाड़ा की महामंडलेश्वर एवं हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव डॉ अन्नपूर्णा भारती कल 12 फरवरी से गाजियाबाद जिलाधिकारी कार्यालय से देहरादून उत्तराखंड मुख्यमंत्री कार्यालय पदयात्रा के लिए निकलेंगी। वह कल 10:00 बजे जिलाधिकारी कार्यालय से प्रस्थान करेंगी।जिसके बाद उनकी यह पदयात्रा 22 फरवरी तक देहरादून मुख्यमंत्री कार्यालय पर पहुंचेगी। पदयात्रा में उनके साथ कोरोना एवं चुनाव आचार संहिता नियमों का पालन करते हुए 7 लोग रहेंगे। इस दौरान अखिल भारत हिंदू महासभा राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडे ने कहा कि उनके निर्दोष संतो को गिरफ्तार करने के बाद जिन धाराओं में जेल में डाला गया वो धाराए बहुत मामूली हैं। जिन धाराओं में थाने से भी बेल दी जा सकती थी। लेकिन उसके बावजूद भी सरकार और सिस्टम ने दोनों संतो को जेल में बंद करके रखा हुआ हैं। यति नरसिंहानंद और जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी की रिहाई के लिए गाजियाबाद जिलाधिकारी कार्यालय से उनके द्वारा पदयात्रा शुरू की जाएगी। जिसके बाद उनकी पदयात्रा 18 से 22 फरवरी तक उत्तराखंड मुख्यमंत्री कार्यालय पर पहुंचेगी। उत्तराखंड मुख्यमंत्री कार्यालय पर पदयात्रा पहुंचने के बाद दोनों संतों की जल्द से जल्द जेल से रिहाई की मांग की जाएगी। इस दौरान उन्होंने कहा संतो के लिए सभी दल सामान्य है। लेकिन सरकार की क्रूरता और अत्याचार भी देखा जाता है।उन्होंने कहा कि में इस समय में उत्तराखंड सरकार के लोगों की क्रूरता ही कहूंगी। क्योंकि क्रूरता पूर्वक निर्णय उत्तराखंड सरकार ने जिहादियों के दवाब में लिया है।जिहादियों के दवाब में लिया गया संदेश बहुत गलत है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तराखंड सरकार क्या देश के कोने कोने में जिहादियों ने सरकारों के ऊपर अपना प्रेशर बना लिया है। जो तथाकथित कहे जाते हैं कि माइनर है और माइनॉरिटी के चलते जिनकी जनसंख्या कम है। उन्होंने कहा कि इनकी जनसंख्या कम होने से अंदाजा लगा सकते हैं कि आज वो क्या हाल कर रहे हैं। हिजाब को लेकर ही इन्होंने देश में ईशु बना दिया है।

Live Videos

Advertisements

Advertisements

Advertisements

Our Visitor

0089455

Advertisements